गर्मी और उमस से बढ़ रहा लोगों का बीपी तो इन बातों का रखें ख्याल

गर्मी और उमस से बढ़ रहा लोगों का बीपी तो इन बातों का रखें ख्याल
ताजनगरी में गर्मी और उमस से लोगों की कठिनाई बढ़ गई है. एसएन मेडिकल कॉलेज में डायरिया, टायफायड, पीलिया के रोगी तेजी से बढ़े हैं. रोगियों का रक्तचाप (बीपी) बढ़ा मिला है. रोगी सिर दर्द की कठिनाई भी बता रहे हैं. इनमें से हालत खराब होने वाले 15-20 रोगियों को भर्ती किया जा रहा है.


मेडिसिन विभाग के डाक्टर टीपी सिंह ने बताया कि विभाग की ओपीडी में प्रतिदिन 480-500 रोगी आ रहे हैं. इनमें बरसात होने के बाद डिहाइड्रेशन, पीलिया, टायफायड, के रोगियों की संख्या में 15-20 प्रतिशत बढ़ गए. दूषित पानी और भोजन के कारण पीलिया और डायरिया की कठिनाई बढ़ी है. पूछने पर 40-50 ऐसे रोगियों ने पसीना बहुता आना, सिर में दर्द रहना, घबराहट होने की कठिनाई बताई. रक्तचाप जांचा तो ये 100/160 एमएमएचजी तक मिला. स्ट्रोक के खतरे को देखते हुए रेाजाना 15-20 रोगियों को इमरजेंसी में भर्ती भी करा रहे हैं. 

70 प्रतिशत बच्चों को उल्टी-दस्त

एसएन मेडिकल कॉलेज के बाल रोग विभाग के डाक्टर नीरज यादव ने बताया कि ओपीडी में प्रतिदिन 150 से अधिक बच्चे आ रहे हैं. इनमें लगभग 70 बच्चों को उल्टी-दस्त, तेज बुखार, पीलिया, डिहाइड्रेशन की कठिनाई मिल रही है. इसमें घनी जनसंख्या वाले क्षेत्र के बच्चे अधिक हैं. एक-दो दिन बरसात होने के बाद बच्चों के खाने-पीने में सफाई न बरतने से ये परेशानी अधिक बढ़ी. इमरजेंसी के बाल रोग विभाग फुल चल रहा है, यहां प्रतिदिन 20 से अधिक बच्चे भर्ती हो रहे हैं.

इन बातों का रखें ख्याल

  • पानी को उबालकर ठंडा कर बच्चों को पिलाएं. 
  • खुले में बिकने वाले फास्ट फूड बच्चों को न खिलाएं.
  • कटे-गले फल न खिलाएं, बच्चों को बासी भोजन न दें.
  • घर से बाहर जाने से पहले पानी पीकर जाएं, धूप से बचें.
  • रक्तचाप के रोगी नियमित रक्तचाप मांपें, अनियंत्रित होने पर चिकित्सक को दिखाएं.
  • नारियल पानी, छाछ, नींबू पानी, शिकंजी खूब पीएं.
  • तला हुआ भोजन, फास्ट फूड से बचें.
  • शादी कार्यक्रम में अतिरिक्त भोजन न करें.

विस्तार

ताजनगरी में गर्मी और उमस से लोगों की कठिनाई बढ़ गई है. एसएन मेडिकल कॉलेज में डायरिया, टायफायड, पीलिया के रोगी तेजी से बढ़े हैं. रोगियों का रक्तचाप (बीपी) बढ़ा मिला है. रोगी सिर दर्द की कठिनाई भी बता रहे हैं. इनमें से हालत खराब होने वाले 15-20 रोगियों को भर्ती किया जा रहा है.

 
मेडिसिन विभाग के डाक्टर टीपी सिंह ने बताया कि विभाग की ओपीडी में प्रतिदिन 480-500 रोगी आ रहे हैं. इनमें बरसात होने के बाद डिहाइड्रेशन, पीलिया, टायफायड, के रोगियों की संख्या में 15-20 प्रतिशत बढ़ गए. दूषित पानी और भोजन के कारण पीलिया और डायरिया की कठिनाई बढ़ी है. पूछने पर 40-50 ऐसे रोगियों ने पसीना बहुता आना, सिर में दर्द रहना, घबराहट होने की कठिनाई बताई. रक्तचाप जांचा तो ये 100/160 एमएमएचजी तक मिला. स्ट्रोक के खतरे को देखते हुए रेाजाना 15-20 रोगियों को इमरजेंसी में भर्ती भी करा रहे हैं. 

70 प्रतिशत बच्चों को उल्टी-दस्त

एसएन मेडिकल कॉलेज के बाल रोग विभाग के डाक्टर नीरज यादव ने बताया कि ओपीडी में प्रतिदिन 150 से अधिक बच्चे आ रहे हैं. इनमें लगभग 70 बच्चों को उल्टी-दस्त, तेज बुखार, पीलिया, डिहाइड्रेशन की कठिनाई मिल रही है. इसमें घनी जनसंख्या वाले क्षेत्र के बच्चे अधिक हैं. एक-दो दिन बरसात होने के बाद बच्चों के खाने-पीने में सफाई न बरतने से ये परेशानी अधिक बढ़ी. इमरजेंसी के बाल रोग विभाग फुल चल रहा है, यहां प्रतिदिन 20 से अधिक बच्चे भर्ती हो रहे हैं.


कमलेश तिवारी की पत्नी को मिला धमकी भरा खत

कमलेश तिवारी की पत्नी को मिला धमकी भरा खत

उदयपुर में कन्हैया लाल की मर्डर के बाद देशभर में हिंदूवादी नेताओं और लोगों को धमकी भरी चिट्ठी मिलने का सिलसिला जारी है राजधानी लखनऊ में कमलेश तिवारी की मर्डर के बाद अब उनकी पत्नी किरण को भी जान से मारने की धमकी मिल रही है शुक्रवार को किरण को उनके कमरे में उर्दू में धमकी भरा लिखा हुआ खत मिला

घर में मिली धमकी भरी चिट्ठी

जानकारी के मुताबिक, किरण को उनके कमरे में उर्दू में लिखा हुआ खत मिला, जिसमें ये लिखा था कि तुम्हारे पति को जहां भेजा है तुमको भी वही पहुंचा देंगे ये चिट्ठी मिलने के बाद किरण तिवारी और उनके बच्चे भय में हैं धमकी भरे पत्र की जानकारी जब पुलिस को मिली तो किरण की सुरक्षा बढ़ा दी गई है बता दें कि लखनऊ के खुर्शीद बाग में 3 वर्ष पहले 18 अक्टूबर 2019 में हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की घर में घुसकर मर्डर कर दी गई थी, जिसके बाद से उनकी पत्नी किरण तिवारी ने संगठन का पदभार संभाला है

पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा

पुलिस का बोलना है की किरन ने इस धमकी भरे पत्र की जानकारी किसी को नहीं दी किरन के कार्यालय के किसी वर्कर ने यह जानकारी किसी दूसरे आदमी को बताई तो यह इंटरनेट पर वायरल हो गया इसका संज्ञान लेकर पुलिस ने किरण से पूछताछ की पत्र की बात ठीक होने पर किरण की सुरक्षा बढ़ाई गई है इसके साथ ही पुलिस ऑफिसरों का बोलना है कि वह पता लगा रहे हैं कि पत्र उनके घर के कमरे तक किसने पहुंचाया

छत्तीसगढ़ के शख्स को मिली जान से मारने की धमकी

गौरतलब है कि उदयपुर मर्डर के बाद अब छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के एक शख्स ने भाजपा की निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा के पक्ष में इंस्टाग्राम पर पोस्ट करने के कारण जान से मारने की धमकी मिलने का आरोप लगाया है पुलिस ने इस संबंध में एक स्त्री समेत दो संदिग्ध लोगों के विरूद्ध मामला दर्ज कर जांच प्रारम्भ कर दी है पुलिस ऑफिसरों ने शनिवार को यह जानकारी दी