सिपाही की संदिग्ध मौत से मचा हड़कंप

सिपाही की संदिग्ध मौत से मचा हड़कंप

उन्नाव से समाचार है, यहां कारागार के सिपाही का संदिग्ध परिस्थितियों में झाड़ियों में मृत शरीर पड़ा मिला है, बताया जा रहा है कि जिला जेल उन्नाव में तैनात सिपाही सुरेंद्र पाल सिंह नेगी जो उत्तराखंड के पौड़ी का रहने वाला था, उसका मृत शरीर सरकारी कालोनी के बाहर झाड़ियों में संदिग्ध परिस्थितियों में पड़ा मिला है.

बदबू आने पर कॉलोनी में रहने वाले दूसरे सिपाही ने मृत शरीर खोजा, देखा और मुद्दे की सूचना कारागार प्रशासन और पुलिस को दी. बताया जा रहा है कि मृतक सिपाही 9 जून से ड्यूटी पर नहीं गया था, अभी सूचना पर पुलिस ने मृत शरीर को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है. वहीं कारागार अधीक्षक के अनुसार सिपाही शराब का लती था, अभी परिवार और मुख्यालय तक सूचना दे दी गई है. वहीं पुलिस मुद्दे की जांच कर रही है.

उन्नाव में वर्ष 2018 से तैनात सिपाही सुरेंद्र पाल सिंह नेगी जो उत्तराखंड के पौड़ी जिले का रहने वाला है, उन्नाव जिला कारागार में कारागार हैड वाडर के पद पर तैनात था. बताया जा रहा है कि सुरेंद्र 9 जून से ड्यूटी पर नहीं गया था, आज जिला कारागार के पास बनी सरकारी कॉलोनी के पास बदबू आने पर कॉलोनी में रह रहे दूसरे सिपाही ने मृत शरीर पड़ा देखा. सिपाही ने मृत शरीर पड़ा होने की सूचना कारागार ऑफिसरों को दी.

जिसके बाद घटना की जानकारी पुलिस को दी. संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु की सूचना पर उन्नाव सदर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने मौके का मुआयना किया और मृत शरीर को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. वहीं मृतक सिपाही शराब के नशे का लती बताया जा रहा है. अभी पुलिस मुद्दे की जांच कर रही है, वहीं कारागार अधीक्षक राजीव कुमार सिंह ने बताया कि एक सिपाही जिसका नाम सुरेंद्र सिंह नेगी है, परसों ड्यूटी की है, कल ड्यूटी पर यह नहीं आया.

जेल अधीक्षक ने बताया कि मालूम किया गया सिपाही को भेजकर कि यह ड्यूटी पर क्यों नहीं आया, जब इसके घर देखा गया तो इनके आवास पर ताला बंद था, सिपाही ने इनके मोबाइल पर कॉल किया तो घंटी बजी लेकिन टेलीफोन नहीं उठा. क्योंकि यह दारू पीने का आदी था, तो माना गया कि कहीं बाजार की तरफ चला गया होगा आ जाएगा.

जेल अधीक्षक ने बताया कि आज शाम को सिपाही ने बताया कि बदबू आ रही है, नेगी के आवास के बगल से, जब हवलदार ने जाकर देखा तो नेगी मृत हालत में पड़े थे, कारागार अधीक्षक ने बताया कि कई बार इस तरह से हुआ कि नाली में गिर गए दारू पीकर, कभी रोड पर गिरा मिलता था, यह आदतन हैं. इसकी सूचना परिवार से लेकर मुख्यालय तक दे दी गई है, पोस्टमार्टम कराया जा रहा है.