कोरोना संक्रमण के मामलों में एक बार फिर उछाल

कोरोना संक्रमण के मामलों में एक बार फिर उछाल

उत्तर प्रदेश में कोविड-19 संक्रमितों की संख्या में धीमी गति से मगर लगातार वृद्धि हो रहा है. पिछले 24 घंटे में प्रदेश में 682 नये कोविड-19 के मुद्दे सामने आये है जिन्हें मिलाकर कोविड-19 संक्रमितों की संख्या 3,257 हो चुकी है.  आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को बताया कि बीते 24 घंटों में 91 हजार से अधिक टेस्ट किए गए जिसमें 682 नए रोगी सामने आये हैं. इस बीच 352 लोगों ने संक्रमण को मात दी है. प्रदेश में अभी कोविड-19 संक्रमितों की संख्या 3257 है जिनमें 3,082 लोग होम आइसोलेशन में हैं.

कोरोना संक्रमण के मामलों में एक बार फिर उछाल होने से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऑफिसरों को कोविड की बदलती परिस्तिथियों पर सूक्ष्मता से नजर बना रखने के नर्दिेश दिए हैं. उन्‍होंने सभी अस्पतालों में चिकत्सिकीय उपकरणों की क्रियाशीलता, डॉक्टरों, पैरामेडिकल स्‍टॉफ की समुचित उपलब्धता की गहनता से परख करने के निर्देश जारी किए हैं. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने आवश्यक दवाओं के साथ मेडिसिन किट तैयार कराने के आदेश दिए हैं. सार्वजनिक स्थानों पर फेस मास्क लगाए जाने को जरूरी करते हुए पब्लिक एड्रेस सस्टिम के जरिए लोगों को सतर्क भी किया जाएगा.
 
उन्होने बताया कि प्रदेश में अब तक 33 करोड़ 75 लाख से अधिक टीके की डोज देने के साथ ही टीकाकरण अभियान में दूसरे प्रदेशों की तुलना में पहले पायदान पर अपना स्‍थान बनाए हुए है. यही कारण है कि महाराष्ट्र समेत अन्य प्रदेशों को पछाड़ते हुए राष्ट्र में उत्तर प्रदेश टीकाकरण अभियान का सफलतापूर्वक नेतृत्व कर रहा है.
 यूपी में बुधवार को 33,75,72,051 टीके की डोज दी जा चुकी है. जिसमें 17,53,24,563 को पहली डोज और 15,87,91,071 को दूसरी डोज दी जा चुकी है. अब तक उत्तर प्रदेश में 34,56,417 को प्रीकॉशन डोज दी जा चुकी है. ‘फोर टी’ रणनीति के अनुसार उत्तर प्रदेश ने कम समय में न सर्फि संक्रमण पर काबू पाया बल्कि कोविड-19 के नए वेरिएंट के प्रसार को भी रोकने में सक्षम रहा.


कंकरखेड़ा में गर्लफ्रेंड को रिंग देने के लिए दिनदहाड़े की 7 लाख रुपये की लूट

कंकरखेड़ा में गर्लफ्रेंड को रिंग देने के लिए दिनदहाड़े की 7 लाख रुपये की लूट

पुलिस लाइन में डकैती के खुलासे की जानकारी देते एसएसपी रोहित सजवान और एसपी अपराध अनित कुमार

मेरठ के कंकरखेड़ा में 28 जून को दिनदहाड़े हुई 7 लाख रुपये की डकैती का पुलिस ने खुलासा कर दिया. मेरठ पुलिस ने डकैती में गाजियाबाद के गैंग को अरैस्ट किया है. तीन बदमाशों के पास से पुलिस ने 3 लाख 36 हजार रुपये, 2 बाइक, 3 मोबाइल बरामद किए हैं.

तीनों युवकों से पूछताछ में पता चला है की यह गैंग अपने शौक पूरा करने के लिए की घटना को अंजाम देता है. गैंग में शामिल संदीप ने पूछताछ में बताया कि अपनी गर्लफ्रेंड के लिए रिंग गिफ्ट करनी थी, जिसके चलते डकैती का प्लान बनाया.

रेलवे स्टेशन पर बनाया गया डकैती का प्लान

कंकरखेडा क्षेत्र में डाबका रोड के पास भारतीय ऑयल का पेट्रोल पंप है. 28 जून की शाम पौने 4 बजे पंप मैनेजर योगेंद्र कुमार अपने साथी के साथ बाइक से 7 लाख रुपये कैश लेकर बैंक में जमा करने पहुंचे थे. पंप से करीब 400 मीटर की दूरी पर 2 बाइकों पर पहुंचे 6 लुटेरों ने मैनेजर की बाइक में साइड मारकर गिराया.

मेरठ पुलिस लाइन की यह फोटो है. डकैती में शामिल तीनों बदमाश पुलिस के साथ

उसके बाद 7 लाख रुपये का बैग लूटकर गोली मारने की धमकी देते हुए फरार हो गए. पकड़े गये युवकों ने बताया कि गाजियाबाद के मोदीनगर में रेलवे स्टेशन पर डकैती की प्लानिंग बनाई गई थी. एक हफ्ते से रैकी भी की गई.

सीसी टीवी कैमरे से पकड़े गये बदमाश

एसएसपी रोहित सजवान और एसपी अपराध अनित कुमार ने शुक्रवार को पुलिस लाइन में प्रेसवार्ता कर घटना का खुलासा किया. एसएसपी ने बताया की कई स्थानों पर पुलिस ने सीसी टीवी फुटेज देखी. जिसके बाद एसओजी, सर्विलांस टीम और थाना पुलिस को डकैती की घटना के लिए लगाया. जहां पुलिस ने डकैती में शामिल तीन बदमाशों को कंकरखेड़ा में हाइवे के पास से अरैस्ट किया है.

पंप के पूर्व कर्मचारी ने कराई रैकी

एसएसपी ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि पूछमाछ में पता चला है की पंप पर काम कर चुके एक कर्मचारी ने डकैती कराने के लिए रैकी कराई थी. इस कर्मचारी ने यशू और संदीप को बताया था की कंकरखेड़ा में पेट्रोल पंप का मैनेजर हर रोज कैश लेकर जाता है. कई बार कार से तो कई बार बाइक से जाता था.

पंप से लेकर कंकरखेड़ा तक बीच में कहीं भी पुलिस नहीं रहती. जिसके बाद संदीप के मन में आया कि यदि कैश डकैती लिया जाए तो शौक भी पूरा हो जाएंगे. डकैती के बाद सभी लुटेरे गंगनहर की पटरी और गांवो के रास्ते मोदीनगर जिला गाजियाबाद में पहुंचे थे.

संदीप की मोदीनगर की है प्रेमिका

गिरफ्तार संदीप और हर्ष शातिर प्रजाति के हैं. संदीप ने पूछताछ में पुलिस को बताया था की मोदीनगर की एक प्रेमिका है. इसी प्रेमिका के शौक पूरा करने के लिए संदीप अपने साथियों के साथ डकैती के लिए उतर आया. संदीप ने बताया की प्रेमिका लंबे समय से गिफ्ट मांग रही थी, जिसे एक रिंग देने का प्रॉमिस किया था. लेकिन उससे पहले ही डकैती में पकड़े गए.

यह हैं अरैस्ट आरोपी

1. हर्ष उर्फ मोगली पुत्र मनोज गुप्ता निवासी कृष्णा कुन्ज कालोनी मोदीनगर जनपद गाजियाबाद.

2. सन्दीप शर्मा पुत्र कैलाश, मोदीनगर जनपद गाजियाबाद.

3. प्रिन्स पुत्र नेपाल सिंह निवासी इन्द्रापुरी, मोदीनगर जनपद गाजियाबाद .

फरार आरोपी

1. प्रिन्स उर्फ दरोगा निवासी ग्राम पट्टी थाना भोजपुर जनपद गाजियाबाद.

2. यशु उर्फ बिलाल निवासी मोहल्ला बेगमाबाद थाना मोदीनगर गाजियाबाद.

3. हिमान्शु उर्फ चैंटा निवासी मोदीनगर गाजियाबाद .