DM ऑफिस के अंदर टॉप 10 बकायेदारों के नाम का बोर्ड लगा

DM ऑफिस के अंदर टॉप 10 बकायेदारों के नाम का बोर्ड लगा

सुल्तानपुर डीएम ऑफिस के अंदर टॉप 10 बकायेदारों के नाम का बोर्ड लगा है. सभी पर 3 करोड़ 3 लाख 81 हजार रुपये बकाया है. सभी फरार हो गए हैं. ऋण चुकता करने से पहले यह फरार हो गए हैं. इनके विरूद्ध आरसी तक की कार्रवाई हो चुकी है. इसके बाद भी इनमें से किसी ने भी ऋण नहीं भरा.

मेसर्स श्री इंटरप्राइजेज के नाम 95.23 लाख का लोन बकाया
जिलाधिकारी कार्यालय में दस बकायेदारों में पहला नाम लंभुआ के जासापारा के मेसर्स श्री इंटरप्राइजेज का नाम दर्ज है. उन्होंने वाणिज्य कर विभाग से 95.23 लाख रुपये का लोन ले रखा है. इसके बाद इसी तहसील के मानापुर के रहने वाले राकेश का नाम लिखा है. राकेश ने प्रतिकर से 62.94 लाख का ऋण लिया है. तीसरे नंबर पर शहर के दरियापुर निवासी रजी अहमद पुत्र रफीउल्ला खान का नाम दर्ज है. रजी ने मोहम्मद रजी पोल्टी केयर नाम से अपनी फर्म के नाम बैंक से 22.55 लाख का लोन लिया लेकिन, भरा नहीं किया. बल्दीराय तहसील के हलियापुर निवासी कुंवर विष्णु कुमार सिंह ने HDFC बैंक से 22.55 लाख का लोन लिया है. इन्होंने भी वापस नहीं किया है.

​​​​​​​जल्द होगी रिकवरी की कार्रवाई
कलेक्ट्रेट में लगी सूची में 5वें नंबर पर सदर तहसील के रवनिया पश्चिम निवासी विभूति शंकर मिश्रा का नाम लिखा हुआ है. विभूति ने उप-श्रमायुक्त के यहां से 19.07 लाख रुपये का कर्जा लिया है. हुसैनगंज बंधुआकला के मेसर्स गणेश ट्रेडर्स के प्रोपाइटर त्रिभुवन नाथ ने वाणिज्य कर विभाग से 18.05 लाख रुपये का ऋण लिया है. लंभुआ तहसील के परसरामपुर के रहने वाले राकेश कुमार चतुर्वेदी ने प्रतिकर से 17.67 लाख, शहर के डिहवा शक्ति नगर निवासी जयकुमार मिश्रा ने मेसर्स शिवा कांसट्रक्शन कंपनी के नाम पर वाणिज्य कर से 17.62 लाख, धम्मौर के जैतापुर निवासी राजाराम ने बैंक से 16.95 लाख और शहर के शाहगंज बाधमंडी निवासी संजीव कुमार अग्रवाल ने आरएस ट्रेडर्स के नाम पर बैंक से 11.81 का लोन ले रखा है लेकिन उसे अदा नहीं किया. SDM सदर सीपी पाठक ने बताया कि सभी के रिकॉर्ड चेक कराए जा रहे हैं, जल्द ही रिकवरी कराई जाएगी. वापस नहीं करने पर इनके विरूद्ध कार्रवाई होगी.


कमलेश तिवारी की पत्नी को मिला धमकी भरा खत

कमलेश तिवारी की पत्नी को मिला धमकी भरा खत

उदयपुर में कन्हैया लाल की मर्डर के बाद देशभर में हिंदूवादी नेताओं और लोगों को धमकी भरी चिट्ठी मिलने का सिलसिला जारी है राजधानी लखनऊ में कमलेश तिवारी की मर्डर के बाद अब उनकी पत्नी किरण को भी जान से मारने की धमकी मिल रही है शुक्रवार को किरण को उनके कमरे में उर्दू में धमकी भरा लिखा हुआ खत मिला

घर में मिली धमकी भरी चिट्ठी

जानकारी के मुताबिक, किरण को उनके कमरे में उर्दू में लिखा हुआ खत मिला, जिसमें ये लिखा था कि तुम्हारे पति को जहां भेजा है तुमको भी वही पहुंचा देंगे ये चिट्ठी मिलने के बाद किरण तिवारी और उनके बच्चे भय में हैं धमकी भरे पत्र की जानकारी जब पुलिस को मिली तो किरण की सुरक्षा बढ़ा दी गई है बता दें कि लखनऊ के खुर्शीद बाग में 3 वर्ष पहले 18 अक्टूबर 2019 में हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की घर में घुसकर मर्डर कर दी गई थी, जिसके बाद से उनकी पत्नी किरण तिवारी ने संगठन का पदभार संभाला है

पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा

पुलिस का बोलना है की किरन ने इस धमकी भरे पत्र की जानकारी किसी को नहीं दी किरन के कार्यालय के किसी वर्कर ने यह जानकारी किसी दूसरे आदमी को बताई तो यह इंटरनेट पर वायरल हो गया इसका संज्ञान लेकर पुलिस ने किरण से पूछताछ की पत्र की बात ठीक होने पर किरण की सुरक्षा बढ़ाई गई है इसके साथ ही पुलिस ऑफिसरों का बोलना है कि वह पता लगा रहे हैं कि पत्र उनके घर के कमरे तक किसने पहुंचाया

छत्तीसगढ़ के शख्स को मिली जान से मारने की धमकी

गौरतलब है कि उदयपुर मर्डर के बाद अब छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के एक शख्स ने भाजपा की निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा के पक्ष में इंस्टाग्राम पर पोस्ट करने के कारण जान से मारने की धमकी मिलने का आरोप लगाया है पुलिस ने इस संबंध में एक स्त्री समेत दो संदिग्ध लोगों के विरूद्ध मामला दर्ज कर जांच प्रारम्भ कर दी है पुलिस ऑफिसरों ने शनिवार को यह जानकारी दी