जुमे को देखते हुए पुलिस रहेगी दुगनी एलर्ट

जुमे को देखते हुए पुलिस रहेगी दुगनी एलर्ट

अग्निपथ के विरोध में अलीगढ़ में हुए अग्निकांड के भी एक हफ्ते पूरे हो चुके हैं. बीते शुक्रवार को ही टप्पल जट्‌टारी में उग्र भीड़ ने जमकर उत्पाद मचाया था और बसों और सरकारी वाहनों में जमकर आगजनी की थी. जिसके चलते अलीगढ़ में आज हाई एलर्ट रहेगा.

टप्पल काण्ड के जहां एक हफ्ते पूरे हो चुके हैं, वहीं शुक्रवार को जुमे की नमाज भी अदा की जाएगी. जिसके चलते पुलिस प्रशासन डबल एलर्ट है और ऑफिसरों की सेक्टर वाइज ड्यूटियां लगा दी गई हैं. सभी को कठोर निर्देश दिए गए हैं कि वह अपने क्षेत्र में नजर बनाकर रखें और जरा भी ढिलाई एकदम न करें.

चप्पे-चप्पे पर रहेगी नजर पुलिस की नजर

अलीगढ़ में सांप्रदायिक माहौल तो अभी तक शांतिपूर्ण बना हुआ है और जिले में किसी तरह की कोई आशांति पैदा नहीं हुई है. इसके लिए पुलिस प्रशासन लगातार धर्म गुरुओं की बैठक करके उनसे जिले में शांति बनाए रखने की अपील कर रहा है. इसके साथ ही घर घर जाकर लोगों से वार्ता भी की जा रही है.

लेकिन अग्निपथ के विरोध में बीते शुक्रवार को युवा गुस्साए हो गए थे. उन्होंने न केवल सरकारी वाहनों को फूंका था, बल्कि पुलिस चौकियों और उनके वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया था. एडीजी आगरा जोन की गाड़ी पर भी उन्होंने पत्थर बरसाए थे. जिसके बाद लगातार अधिकारी हर एक गतिविधियों पर नजर बनाए हुए हैं.

टप्पल में ऑफिसरों की जोनल और सेक्टर प्रबंध के अनुसार ड्यूटी लगाई जा रही है.

जोन और सेक्टर प्रबंध में बांटी जिम्मेदारी

टप्पल काण्ड की संवेदनशीलता और जुमे की नमाज को देखते हुए ऑफिसरों और पुलिस को कई टीमों में बांटा गया है. टप्पल को 4 जोन और 10 सेक्टर में बांटा गया था और टीमें यहां पर नजर रख रही हैं. इसके लिए एसएसपी ने 10 टीमें नियुक्त की थी, जो सारे मुद्दे की जांच कर रही हैं.

वहीं जिले के सबसे संवेदनशील ऊपरकोट क्षेत्र में भी स्पेशल टीमें तैनात की गई हैं. शुक्रवार को जुमे की नमाज के दौरान भी भारी संख्या में पुलिस बल तैनात रहेगा, जिससे कि अराजक तत्व किसी तरह की गड़बड़ी न कर सकें. इसके लिए पुलिस मौजिज लोगों से मिलकर लगातार शांति की अपील कर रही है.

एसपी सिटी कुलदीप गुनावत ने शहर के संवेदनशील इलाकों में रात में की पैदल गश्त

देर रात तक ऑफिसरों ने किया पैदल गश्त

जुमे को देखते हुए अलीगढ़ में अधिकारी गुरुवार से ही एलर्ट हो गए. स्थान जगह शांति समितियों की बैठक की गई और ऑफिसरों ने पैदल गश्त करके क्षेत्र का जायजा लिया. दिन में पुलिस लोगों के घरों में भी पहुंची और उनसे वार्ता की.

टप्पल में दिन में भी अधिकारी एलर्ट रहे और लगातार गश्त करते रहे. जिसके बाद देर रात तक पुलिस अधिकारी लोगों से मिलते जुलते रहे और शांति की अपील की. देर रात से ही स्थान जगह फोर्स मुस्तैद कर दी गई और अराजक तत्वों को पूरी कठोरता के साथ शांति बनाए रखने की हिदायत दी गई.

टप्पल में पिछले शुक्रवार हालात बिगड़ने पर कमिश्नर और डीआईजी भी पहुंचे थे.

भड़काऊ पोस्ट की तो लगेगी NSA

संवेदनशील इलाकों में नजर रखने के साथ ही पुलिस सोशल मीडिया पर भी बराबर नजर बनाए हुए है. सोशल मीडिया पर भड़काऊ बयानबाजी करने, इस तरह की पोस्ट शेयर करने, विरोध जनक सामग्री डालने पर तुरन्त कार्रवाई की जाएगी. आरोपियों पर धारा 505/153A/295A /298 के अनुसार केस दर्ज किया जाएगा और NSA तक की कार्यवाही की जा सकती है.

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि आमजनों और शहर के गणमान्य लोगों से संपर्क करके शांति प्रबंध बनाए रखने की जा रही है. इसके साथ ही उन्हें प्रेरित किया जा रहा है कि यदि कोई आदमी विरोध जनक हरकत करता है तो इसकी जानकारी तुरन्त पुलिस को दें. जिससे तुरंत कार्रवाई की जा सके. उन्होंने बताया कि यदि किसी ने गड़बड़ी करने की प्रयास की तो उसके विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी.

खबरें और भी हैं…

कमलेश तिवारी की पत्नी को मिला धमकी भरा खत

कमलेश तिवारी की पत्नी को मिला धमकी भरा खत

उदयपुर में कन्हैया लाल की मर्डर के बाद देशभर में हिंदूवादी नेताओं और लोगों को धमकी भरी चिट्ठी मिलने का सिलसिला जारी है राजधानी लखनऊ में कमलेश तिवारी की मर्डर के बाद अब उनकी पत्नी किरण को भी जान से मारने की धमकी मिल रही है शुक्रवार को किरण को उनके कमरे में उर्दू में धमकी भरा लिखा हुआ खत मिला

घर में मिली धमकी भरी चिट्ठी

जानकारी के मुताबिक, किरण को उनके कमरे में उर्दू में लिखा हुआ खत मिला, जिसमें ये लिखा था कि तुम्हारे पति को जहां भेजा है तुमको भी वही पहुंचा देंगे ये चिट्ठी मिलने के बाद किरण तिवारी और उनके बच्चे भय में हैं धमकी भरे पत्र की जानकारी जब पुलिस को मिली तो किरण की सुरक्षा बढ़ा दी गई है बता दें कि लखनऊ के खुर्शीद बाग में 3 वर्ष पहले 18 अक्टूबर 2019 में हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की घर में घुसकर मर्डर कर दी गई थी, जिसके बाद से उनकी पत्नी किरण तिवारी ने संगठन का पदभार संभाला है

पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा

पुलिस का बोलना है की किरन ने इस धमकी भरे पत्र की जानकारी किसी को नहीं दी किरन के कार्यालय के किसी वर्कर ने यह जानकारी किसी दूसरे आदमी को बताई तो यह इंटरनेट पर वायरल हो गया इसका संज्ञान लेकर पुलिस ने किरण से पूछताछ की पत्र की बात ठीक होने पर किरण की सुरक्षा बढ़ाई गई है इसके साथ ही पुलिस ऑफिसरों का बोलना है कि वह पता लगा रहे हैं कि पत्र उनके घर के कमरे तक किसने पहुंचाया

छत्तीसगढ़ के शख्स को मिली जान से मारने की धमकी

गौरतलब है कि उदयपुर मर्डर के बाद अब छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के एक शख्स ने भाजपा की निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा के पक्ष में इंस्टाग्राम पर पोस्ट करने के कारण जान से मारने की धमकी मिलने का आरोप लगाया है पुलिस ने इस संबंध में एक स्त्री समेत दो संदिग्ध लोगों के विरूद्ध मामला दर्ज कर जांच प्रारम्भ कर दी है पुलिस ऑफिसरों ने शनिवार को यह जानकारी दी