कोरोना वीरों को काशी की बेटी ने अनोखे अंदाज में किया सलाम

कोरोना वीरों को काशी की बेटी ने अनोखे अंदाज में किया सलाम

कोविड-19 वॉरियर्स (Corona Warriors) के जज्बे को सलाम करने के लिए काशी की बेटी ने अनोखा उपाय अपनाया है वाराणसी (Varanasi) की रहने वाली राखी ने लकड़ी की टुकड़ियों से खास तरह के मेडल तैयार किए हैं खास बात ये है कि ये मेडल किसी खास शख्स के लिए नहीं बल्कि उन आम लोगों के लिए हैं जिन्होंने कोविड-19 के समय छोटी-छोटी चीजों से लोगों की आवश्यकता को पूरा किया था मेडल तैयार करने के साथ ही राखी ने उन लोगों को ये मेडल भी भेंट किए हैं इसमें रिक्शा, सब्जी विक्रेता,डिलीवरी बॉय, ऑटो चालक, किसान जैसे आम लोग शामिल हैं पूरे डेढ़ वर्ष की मेहनत के बाद राखी ने इन मेडल्स को तैयार किया है कोविड-19 के समय जिस समय लोग अपने घरों में थे, उस वक्‍त वाराणसी की राखी कोविड-19 वीरों का लिए ये मेडल तैयार कर रही थीं

राखी मूलतः बिहार की रहने वाली हैं, लेकिन बीते कुछ वर्षों से वो महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में पढ़ाई करने के साथ ही वाराणसी में रह रही हैं उन्‍होंने बताया कि कोविड-19 के समय डॉक्टर्स और पुलिसवालों को तो हर किसी ने सम्मानित किया, लेकिन उसी समय कई ऐसे आम लोग भी थे जिन्होंने हमारी सहायता की और स्वयं की जान जोखिम में रखकर हमारे घर आवश्यकता के सामान को पहुंचाया उन्हीं शूरवीरों के लिए मैंने ये कोशिश किया है, ताकि लोग उनके सहयोग को भी जान और समझ सकें

ऐसे मिली प्रेणना
राखी ने बताया कि उनको इसकी प्रेणना डेनमार्क के रहने वाले मैडम ईगर माग्रेट लार्सन से मिली उन्होंने भी 2018 में कुछ खास लोगों के लिए बीएचयू (BHU) में इसी तरह की प्रदर्शनी लगाई थी, जिसके बाद राखी ने ये ठाना कि वो भी समाज के लिए बेहतर काम करने वालों को सम्मानित करने का कोशिश करेंगी

यूरेशिया वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम हुआ दर्ज
वाराणसी की बेटी के इस अनोखे कोशिश की चर्चा अब शहर में हो रही है राखी की इस मेहनत को उस समय हौसला मिल गया जब यूरेशिया वर्ल्ड रिकॉर्ड बुक में उनका नाम दर्ज हुआ, जिसके बाद उनके घर के साथ ही पूरे यूनिवर्सिटी में खुशी का माहौल है

रिक्शा चालकों ने भी की तारीफ
राखी ने जिन 501 शख्स के लिए मेडल तैयार किए हैं उसमें वाराणसी की टेरो कार्ड रीडर नेहा भी शामिल हैं नेहा ने बताया कि राखी का ये कोशिश बहुत सराहनीय है टेलीफोन पर वार्ता में रिक्शा चालक राकेश कुमार ने बताया कि उन्होंने कभी सोचा भी नहीं था कि उन्हें भी मेडल देकर सम्मानित किया जाएगा


यूट्यूबर बृजभूषण दूबे को भी सर कलम करने की धमकी मिली, सीएम योगी से कार्रवाई की मांग

यूट्यूबर बृजभूषण दूबे को भी सर कलम करने की धमकी मिली, सीएम योगी से कार्रवाई की मांग

राजस्थान के उदयपुर में कन्हैया लाल की तालिबानी ढंग से निर्मम मर्डर का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ कि उत्तर प्रदेश के गाजीपुर के यूट्यूबर बृजभूषण दूबे को भी सर कलम करने की धमकी मिली है यूट्यूबर बृज भूषण दुबे ने अपने चैनल पर उदयपुर की घटना को लेकर एक वीडियो पोस्ट किया कि जालिमों के संबंध पाक से है उन्होंने प्रश्न खड़ा किया कि क्या कुरान शरीफ ऐसी इजाजत देता है? बृजभूषण दूबे के इस वीडियो के बाद लगातार उनके पोस्ट पर सिर कलम करने की धमकी वाले कमेंट किए जा रहे हैं बृजभूषण दूबे के यूट्यूब चैनल के वीडियो पोस्ट के कमेंट बॉक्स में साकिब अहमद नाम की आईडी से धमकी दी गई कि इंशाल्लाह तेरा भी सिर तन से अलग करेंगे, जल्द ही देख लेना

हालांकि, बाद में कमेंट डिलीट कर दिया गया लेकिन उदयपुर की घटना की गंभीरता को देखते हुए ब्रज भूषण दुबे ने कमेंट को गंभीरता से लिया और इसकी कम्पलेन वाराणसी के एडीजी जोन, डीजीपी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से करते हुए कार्रवाई की भी मांग की है

बृजभूषण दूबे उत्तर प्रदेश के गाजीपुर के रहने वाले हैं वह समसामयिक विषयों को लेकर अपने यूट्यूब चैनल पर विडियो पोस्ट करते हैं मौजूदा समय में उनके चैनल के 14.5 लाख सब्सक्राइबर हैं बृजभूषण दूबे ने बताया कि गुरुवार को दोपहर करीब 12.30 बजे उन्होंने राजस्थान के उदयपुर में हुई कन्हैया लाल की निर्मम मर्डर को लेकर 11 मिनट 37 सेकेंड का निंदनीय वीडियो पोस्ट किया था इस वीडियो के पोस्ट होने के कुछ घंटे बाद ही कमेंट बॉक्स में साकिब अहमद के नाम की आईडी से उन्हे सिर कलम करने की धमकी दी गई हालांकि इसके कुछ देर बाद कमेंट डिलीट कर दिया गया

तब तक उन्होंने कमेंट का स्क्रीन शॉट ले लिया था बृजभूषण दूबे अभी इस धमकी से डरे तो नही हैं लेकिन उन्हें सुरक्षा को लेकर भय जरूर है उन्होंने गवर्नमेंट से मांग की है कि फेक आईडी पर प्रतिबंध लगाए जाने को लेकर गवर्नमेंट को महत्वपूर्ण कदम उठाने चाहिए उन्होंने बोला कि आज के समय में दूसरे के नाम की आईडी बनाकर धमकी जैसी घटनाएं कारित करना आम बात हो गई है ऐसे में गवर्नमेंट को इस पर ठोस नीति जल्द ही लानी चाहिए ताकि ऐसे चेहरे बेनकाब हो सकें