उत्तर भारत में मौसम का फिर से प्रचंड रूप

उत्तर भारत में मौसम का फिर से प्रचंड रूप

नयी दिल्ली/चंडीगढ़, (एजेंसी/ट्रिन्यू) :

हल्की सी राहत देकर उत्तर हिंदुस्तान में मौसम का फिर से प्रचंड रूप दिखने लगा है. संभावना व्यक्त किया जा रहा है कि दिल्ली-एनसीआर समेत हरियाणा-पंजाब के कई इलाकों में पारा एक-दो दिनों में 47 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है. इस संबंध में अलर्ट जारी किया गया है. उधर, हिंदुस्तान की कृषि आधारित अर्थव्यस्था की जीवनरेखा माने जाने वाला दक्षिण पश्चिमी मानसून, समय से पहले, 27 मई तक केरल में वर्षा की पहली फुहार ला सकता है. मौसम विभाग के अनुसार सामान्यत: केरल में मानसून का आगमन आमतौर पर एक जून को होता है. हिंदुस्तान मौसम विज्ञान विभाग ने कहा, 'इस वर्ष केरल में दक्षिण पूर्वी मानसून का आगमन समय से पहले हो सकता है.' दक्षिण पश्चिमी मानसून के समय से पहले आगमन की घोषणा ऐसे समय की गई है जब उत्तर पश्चिमी हिंदुस्तान के क्षेत्र अत्यधिक तापमान का सामना कर रहे हैं. मौसम विभाग ने बोला कि अंडमान निकोबार द्वीप समूह पर 15 मई तक मानसून के आगमन का अनुमान है. पूर्वोत्तर राज्यों के कुछ इलाकों में शुक्रवार को झमाझम बारिश हुई. मेघालय, असम में शुक्रवार को भारी बारिश होने से कई स्थानों पर भूस्खलन हुआ और नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं.


अमित बघेल पर जैन समाज के अपमान का लगा आरोप

अमित बघेल पर जैन समाज के अपमान का लगा आरोप

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में शनिवार को व्यापारी सड़कों पर उतरेंगे. मामला जैन मुनियों पर की गई अमर्यादित टिप्पणी से जुड़ा है. सकल जैन समाज और शहर के व्यापारिक संगठनों के व्यापारी शनिवार को इसी वजह से पैदल मार्च निकालेंगे. ये सभी जैन दादा बाड़ी में सभा के बाद राजभवन के लिए निकलेंगे.

सकल जैन समाज के गजराज पगारिया ने पैदल मार्च निकालने की अनुमति रायपुर के जिला प्रशासन से मांगी थी. इन्हें अनुमति मिल गई है. गवर्नर और सीएम के नाम ज्ञापन लेकर सकल जैन समाज के लोग और व्यवसायी रैली निकालेंगे. इन सभी की मांग है कि जैन मुनियों के विरूद्ध विवादित बयान देने वाले छत्तीसगढ़िया क्रांति सेना के प्रमुख अमित बघेल के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाए.

दंतेवाड़ा में सौंपी गई शिकायत
छत्तीसगढ़ क्रांति सेना के प्रदेश अध्यक्ष अमित बघेल के विरूद्ध दंतेवाड़ा जिले के गीदम थाना में कम्पलेन का आवेदन दिया गया. शुक्रवार को गीदम में जैन समुदाय के सैकड़ों लोगों ने रैली निकालकर विरोध जताया. सकल जैन श्री संघ के अध्यक्ष विमल सुराना ने बोला कि, छत्तीसगढ़ में सीएम भूपेश बघेल ने जैन समुदाय के मुनियों को राज्य मेहमान का दर्जा दिया है. उन्हीं जैन मुनियों पर इस तरह की अमर्यादित टिप्पणी करना यह बर्दाश्त से बाहर है.

तिल्दा में दुकानदार गुस्से में
अमित बघेल के विरूद्ध एफआइआर दर्ज करने और कार्रवाई की मांग तिल्दा में भी की गई है, जैन समाज ने नेवरा के एसडीएम को ज्ञापन सौंपा है. समाज के अध्यक्ष मनोज कुमार जैन, ने बोला छत्तीसगढ़ क्रांति सेना के प्रदेश अध्यक्ष अमित बघेल ने अल्पसंख्यक एवं अहिंसक जैन समाज के धार्मिक गुरु मूल्यों के प्रति आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग करते हुए जैन समाज का अपमान किया है.

ये है पूरा मामला
25 मई को बालोद के सरदार वल्लभ भाई पटेल मैदान में छतीसगढ़िया क्रांति सेना का कार्यक्रम आयोजित था. इसमें संगठन के प्रदेश अध्यक्ष अमित बघेल ने जैन मुनियों पर मंच से टिप्पणी की. जैन समुदाय के लोगों को बाहरी बताकर इनका विरोध किया. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो जैन समाज ने बघेल की बातों पर कड़ी विरोध जताई. अब उसी बयान की वजह से पूरे प्रदेश में बवाल मचा हुआ है.