2.5 वर्ष बाद न्यूजीलैंड पहुंचा पहला क्रूज शिप

2.5 वर्ष बाद न्यूजीलैंड पहुंचा पहला क्रूज शिप

वेलिंगटन: न्यूजीलैंड ने कोविड महामारी प्रारम्भ होने के बाद से पूरे राष्ट्र में जबरदस्त प्रतिबंध लगा दिए थे. एक समय तो ऐसा भी आया था जब एक तरफ पूरी दुनिया कोविड-19 वायरस के कहर से जूझ रही थी, तो दूसरी तरफ न्यूजीलैंड कोविड-फ्री घोषित हो चुका था. लेकिन न्यूजीलैंड अधिक दिन तक कोविड-19 की चपेट में आने से नहीं बच पाया और बाकी की दुनिया की तरह यहां भी इस रोग ने बर्बादियों के निशान छोड़ ही दिए. हालांकि यह भी अब बीते दौर की बात है क्योंकि शुक्रवार न्यूजीलैंड पहुंचे एक क्रूज शिप का जोरदार स्वागत किया, जो राष्ट्र के पर्यटन उद्योग के सामान्य स्थिति में लौटने का संकेत है.

2.5 वर्ष बाद न्यूजीलैंड पहुंचा पहला क्रूज शिप

दुनिया के Covid-19 की चपेट में आने के बाद यह पहला ऐसा क्रूज शिप है जो न्यूजीलैंड पहुंचा है. इस देश ने Covid-19 को पूरी तरह से समाप्त करने और बाद में इसके प्रसार को नियंत्रित करने के लिए 2020 की आरंभ में अपनी सीमाओं को बंद कर दिया था. हालांकि, न्यूजीलैंड ने मई में प्लेन से आने वाले पर्यटकों के लिए अपनी सीमाओं को फिर से खोल दिया, लेकिन समुद्री जहाजों पर से प्रतिबंध अभी केवल 2 सप्ताह पहले ही हटा है. क्रूज इंडस्ट्री से जुड़े कई लोग प्रश्न करते हैं कि इसमें इतना समय क्यों लगा.

दुनिया के Covid-19 की चपेट में आने के बाद यह पहला ऐसा क्रूज शिप है जो न्यूजीलैंड पहुंचा है.

क्रूज शिप पर लगभग 2000 लोग हैं सवार
इस प्रतिबंधों के समाप्त होने के बाद सिडनी से रवाना हुए कार्निवल ऑस्ट्रेलिया के पैसिफिक एक्सप्लोरर (The Pacific Explorer) क्रूज जहाज को 12-दिवसीय यात्रा के लिए फिजी जाने के क्रम में वापसी में शुक्रवार को सुबह ऑकलैंड में लंगर डालने की इजाजत दी गई. जहाज पर लगभग 2,000 यात्री और चालक दल के सदस्य सवार हैं. पर्यटन मंत्री स्टुअर्ट नैश ने कहा, ‘अद्भुत, है ना? हमारी सीमाओं को फिर से खोलने की दिशा में यह एक और कदम है और हमेशा की तरह व्यापार फिर से प्रारम्भ करने के करीब है.

टूरिज्म इंडस्ट्री में रंग भरने की आशा लेकिन…
माना जा रहा है कि न्यूजीलैंड में टूरिज्म इंडस्ट्री को कोविड-19 से पहले के दौर के बराबर आने में अभी समय लगेगा. इस इंडस्ट्री का न्यूजीलैंड की विदेशी आय में लगभग 20 फीसदी और सकल घरेलू उत्पाद में 5 फीसदी से अधिक का सहयोग होता था. नैश ने कहा, ‘मुझे लगता है कि टूरिज्म सेक्टर में ऐसे कई लोग हैं जिन्होंने पिछले 2 वर्षों में काफी मुश्किलें झेली है.’ बता दें कि न्यूजीलैंड कोविड-19 वायरस की शुरुआती लहरों से बच निकलने में सफल रहा था और वहां बाकी दुनिया के मुकाबले में काफी कम संख्या में संक्रमण के मुकदमा आते थे, लेकिन फरवरी 2022 के बाद हालात बेकाबू हो गए.

न्यूजीलैंड में समुद्री जहाजों के आगमन से प्रतिबंध अभी केवल 2 सप्ताह पहले ही हटा है.

फरवरी 2022 में राष्ट्र में बेकाबू हो गया कोरोना
30 अप्रैल 2020 तक राष्ट्र में कोविड-19 वायरस से संक्रमण के कुल 1475 मुद्दे थे. 30 अप्रैल 2022 तक इस राष्ट्र में कुल मिलाकर 2613 मुद्दे सामने आए थे, जबकि उस समय पूरी दुनिया में कोविड-19 वायरस कहर बनकर टूट चुका था. हालांकि फरवरी 2022 से हालात बदले और 01 फरवरी 2022 को 16,620 मामलों से बढ़कर 28 फरवरी को कुल मामलों की संख्या एक लाख के आंकड़े को पार कर गई. ताजा आंकड़ों के मुताबिक, न्यूजीलैंड में अब तक 16,81,209 मुद्दे सामने आ चुके हैं और 2,459 लोगों की मृत्यु हुई है.