बिहार में सरकार बदलते ही बीजेपी ने जंगलराज का आरोप लगाया 

 बिहार में सरकार बदलते ही बीजेपी ने जंगलराज का आरोप लगाया 

पटना बिहार में गवर्नमेंट बदलते ही भाजपा ने जंगलराज का आरोप लगाया है सबसे पहले केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने बिगड़ती कानून प्रबंध को लेकर हमला किया तो अब छपरा में संदिग्ध जहरीली शराब से हुई 5 लोगों की  मृत्यु पर बीजेपी नेताओं ने मोर्चा खोल दिया है हालांकि, नीतीश कुमार ने स्पष्ट रूप से बोला कि जिनको जो कहना है बोलते रहें, इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री द्वारा निशाना साधने को लेकर भी नीतीश कुमार ने उत्तर दिया

बता दें कि भाजपा-जदयू का संबंध समाप्त होने के बाद से भाजपा की तरफ से नीतीश कुमार के करीबी माने जाने वाले पूर्व उप सीएम सुशील कुमार मोदी ने मोर्चा संभाल लिया है इस पर नीतीश कुमार ने बोला कि जब सुशील मोदी को 2020 में बिहार में एनडीए को गवर्नमेंट में उप सीएम नहीं बनाए गए तो मैं काफी दुखी था उन्हें राज्यसभा भेजा गया तो मुझे लगा कि दिल्ली में उन्हें कुछ बनाया जाएगा, लेकिन उन्हें वहां भी कुछ नहीं बनाया गया अब सुशील कुमार मोदी मुझ पर यदि कुछ बोलते हैं तो उससे उनका पार्टी में कद बढ़ेगा जिनको जो कहना है वह बोलते रहें मुझ पर बोलने से पार्टी उन्हें कुछ न कुछ दे देते हैं तो अच्छी बात है जिन्हें साइडलाइन कर दिया गया था वह भी अब आ गए हैं

बिहार में लगातार हो रहे जहरीली शराब से मृत्यु पर सीएम नीतीश कुमार ने बोला कि गलत करने वाले कुछ लोग हैं शराब पीना बुरी बात है जो शराब पिएगा मरेगा ही शराबबंदी अभियान को सफल करने के लिए गवर्नमेंट अभियान चला रही है 90% लोग एक राय के होते हैं; लेकिन कुछ लोग इधर-उधर जरूर करते हैं इसलिए शराब नहीं पीना चाहिए शराब पीने वालों का हश्र लोग भी देख रहे हैं आम आदमी के शराब पीने से उनके घर की आमदनी और माली हालत भी ठीक हो गया है हमलोगों के भलाई में काम कर रहे हैं लोगों को अपने राष्ट्रपिता की कम से कम बात माननी चाहिए विश्व स्वास्थ्य संगठन काफी रिपोर्ट आ गया शराब को लेकर शराब के विरूद्ध जो एक्शन लेना है,  वह लगातार जारी रहेगा

2024 में विपक्ष का पीएम पद के उम्मीदवार बनने के प्रश्न पर नीतीश कुमार ने कहा,  मैं हाथ जोड़कर कहता हूं मेरे मन में ये सब कोई बात नहीं है मेरी चाहत है कि मैं सभी दल को एक साथ मिलकर चलूं तो यह अच्छा होगा हमलोगों की समस्याओं के लिए बात करेंगे समाज के लिए बात करेंगे समाज में अच्छा वातावरण हो; इस पर बात करेंगे मैंने अपनी ख़्वाहिश पहले ही बता दी है  पॉजिटिव काम हो रहा है बहुत लोगों का टेलीफोन आ रहा है उनसे वार्ता हो रही है 2024 आने दीजिए फिर देखिए क्या होता है पहले सब लोगों को एकजुट करना है मैं नेतृत्व का सपना नहीं देख रहा हूं मैं चाहता हूं हमारा राष्ट्र अच्छे ढंग से आगे बढ़े; आज समाज में विवाद की स्थिति है

बता दें कि 10 अगस्त को आठवीं बार बिहार के सीएम के रूप में शपथ लेने के बाद, नीतीश कुमार ने अगले लोकसभा चुनाव में पीएम नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधा था तब उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा, “वह 2014 में जीते थे, लेकिन क्या वह 2024 में होंगे?” जब उनसे पत्रकारों द्वारा पूछा गया कि क्या वह पीएम उम्मीदवार बनना चाहते हैं, तो उन्होंने तब भी बोला था कि वह “किसी भी चीज के दावेदार नहीं हैं” उन्होंने कहा, “सवाल यह है कि जो 2014 में आया वह 2024 में आएंगे या नहीं